डिजिटल मार्केटिंग आखिर क्या है ?​ और डिजिटल मार्केटिंग का 2020 में क्या महत्व है?


​डिजिटल मार्केटिंग एक टर्म है मार्केटिंग का जिसमे प्रोडक्ट् और सर्विसेज की मार्केटिंग डिजिटल टेक्नोलॉजी के माध्यम से होती है. डिजिटल मार्केटिंग तकनीकों में ज्यातादर निचे लिखे हुए तरीकों का इस्तेमाल होता है. 
डिजिटल मार्केटिंग आज की तारीख में भारत जैसे देश के लिए बहुत ज़रूरी हो गया है। आपके के लिए डिजिटल मार्केटिंग सीखना आवश्यक है अगर आप अपनी जॉब या व्यापार में तरक्की करना चाहते हैं।

जैसा के आपने अभी पढ़ा के डिजिटल मार्केटिंग का मतलब है की प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को मार्किट करना डिजिटल या इंटरनेट के माध्यम से।  डिजिटल माध्यम या फिर कहें के इंटरनेट अपने आप में काफी विशाल विशय है | इसमें मेस्सगेस (SMS ) से ले के ईमेल, फेसबुक ,ट्विटर गूगल जैसे बहुत से माध्यम आ जाते हैं। इससे पहले के हम विस्तार से डिजिटल मार्केटिंग तो समझे हमारे लिए ये जानना आवश्यक है की इसका आज की तारीख में भारत जैसे देश  महत्व है।​

डिजिटल मार्केटिंग डोमेन में भारत में 2 लाख से ज्यादा नौकरियां हैं (Year 2017 तक)। कई व्यापार मालिक अपनी सेवाओं के प्रचार के लिए एक डिजिटल विपणन टीम बनाने के लिए तैयार हैं। इस उद्योग से वर्ष 2020 तक 20 लाख से ज्यादा नौकरियां पैदा होने की संभावना है। इसलिए इस उद्योग में कैरियर का भविष्य निश्चित रूप से आशाजनक लग रहा है। यह बड़े खिलाड़ी या छोटे स्टार्ट-अप हों, सभी कंपनियां डिजिटल विपणन गतिविधियों में भारी निवेश कर रही हैं। वे उन लोगों की तलाश कर रहे हैं जो डिजिटल विपणन रणनीतियों को विकसित और लागू कर सकते हैं जो उनकी आवश्यकताओं के अनुरूप हैं। 

​फेसबुक भारत का प्रमुख सोशल नेटवर्किंग प्लेटफार्म है और कई लोगों के लिए रोजमर्रा की जिंदगी का एक हिस्सा है। 2020 में, भारत में फेसबुक यूज़र की संख्या 26.2  करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद है। फेसबुक ने हर स्तर के व्यवसायों को सक्षम किया है आसानी से अपने उत्पादों और सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए। ​इंटरनेट आज की तारीख में हर भारतीय के जीवन का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है | इसी वजह से डिजिटल मार्केटिंग का जानना बहुत ही आवश्यक है |

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO)

डिजिटल मार्केटिंग में बहुत सारी चीजें आ जाती है. हम शुरुआत करते हैं सर्च से | आपने Google सर्च का नाम तो सुना ही होगा और इस सेवा का उपयोग भी किया होगा |
भारत में 95% से ज्यादा ऑनलाइन सर्च इसमें गूगल का इस्तेमाल होता है | आज की तारीख में अगर आपको यह ढूंढना है की आपके घर के पास सबसे नजदीकी हॉस्पिटल या फिर दुकान कौन सी है तो आप गूगल का इस्तेमाल करते हैं | यहां तक की मोबाइल फोन का रेट पता करने के लिए या फिर कोई और जानकारी प्राप्त करने के लिए भी आप गूगल का इस्तेमाल करते हैं | कंप्यूटर से लेकर मोबाइल फोन तक कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए चाहे वह नेगी के नए जूते का रेट ही क्यों ना हो हम गूगल का इस्तेमाल करते हैं |
इसका मतलब कि अगर आपकी वेबसाइट Google के सर्च रिजल्ट में ऊपर आती है तो ज्यादा लोगों को आपकी वेबसाइट और आपके व्यापार के बारे में पता लगेगा | इससे नासिर आपके व्यापार और बिजनेस के बारे में ज्यादा लोगों को पता लगेगा पर आपका धंधा भी बढ़ेगा. इसलिए आपको अपनी वेबसाइट Google के दिए गए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन की गाइडलाइन के मुताबिक बनानी पड़ेगी | यह तरीका आप Google में सर्च रिजल्ट में ऊपर आने के लिए इस्तेमाल करेंगे. आपके जैसे और भी व्यापार यह तरीकों का इस्तेमाल कर रहे होंगे इसलिए इन तरीकों की जानकारी होना आवश्यक है |
आज की तारीख में हर बड़ी कंपनी अपनी वेबसाइट का सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करवाती है. इसे करवाने के लिए वह बड़ी-बड़ी टीमों की सहायता लेती है |
दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियां जैसी की नई की एडिडास भारत की बड़ी कंपनियां और वेबसाइट जैसे कि टाइम्स ऑफ इंडिया दैनिक जागरण Flipkart Snapdeal और अन्य बड़ी कंपनियां अपनी वेबसाइट का सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करवाती है | इससे वह उन ग्राहकों को आकर्षित कर पाती हैं जो Google पर उनकी ऑफर करी गए प्रोडक्ट या सर्वेश को ढूंढ रहे हैं |
इससे अगर उनकी वेबसाइट सर्च रिजल्ट में ऊपर आती है तो ज्यादा लोग उनकी वेबसाइट पर क्लिक करते हैं जाते हैं और ज्यादा प्रोडक्ट क्या सर्वेश उनसे खरीदते हैं |

सोशल मीडिया

अब हम अगली चीज की चर्चा करेंगे जो है सोशल मीडिया | सोशल मीडिया से आप वाकिफ होंगे और शायद Facebook जैसी सर्विस को रोज इस्तेमाल करते होंगे | भारत में आज की तारीख में 22 करोड़ के आसपास लोग Facebook पर एक्टिव है | इस वजह से Facebook एक बहुत ही शक्तिशाली माध्यम बन जाता है हर बिजनेस को अपने प्रोडक्ट पर सर्वश्रेष्ठ प्रमोट करने का
सोशल मीडिया डिजिटल मार्केटिंग का एक अहम हिस्सा है | सोशल मीडिया पर बिज़नस ना सिर्फ अपने प्रोडक्ट और सर्विसेस को प्रमोट कर सकते हैं पर यह भी जान सकते हैं कि उनके कस्टमर उनके ब्रांड के बारे में क्या बातें कर रहे हैं | कस्टमर्स आजकल जो प्रोडक्ट खरीदते हैं जो कपड़े पहनते हैं उसके बारे में सोशल मीडिया पर चर्चा करते हैं | यह चर्चा है फ़ेसबुक कॉमेंट्स ग्रुप्स और तेजस पर होती है | इसके अलावा इंस्टाग्राम WhatsApp Twitter जैसी अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर भी इन ब्रांड्स की और उनके प्रोडक्शन मिसेस की चर्चा होती है | ब्रांड्स इन चर्चाओं का हिस्सा होकर अपने कस्टमर के साथ अपने संबंधों को मजबूत करते हैं | यह देखा गया है कि ब्रांड्स जो सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव है वह अपने कस्टमर से एक अच्छा कनेक्शन बना पाते हैं | इंट्रेंस के कस्टमर अगर उनकी तारीफ अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर करते हैं जैसे की Facebook इंस्टाग्राम या ट्विटर तो उससे उस ब्रांड का फ्री में प्रचार होता है इसको कहते हैं अपोजिट वर्ड ऑफ माउथ | यह अपोजिट वर्ड ऑफ माउथ याने कि कस्टमर के द्वारा दिया गया यह पॉजिटिव बडोदिया नेकी कस्टमर के द्वारा दिया गया |

सोशल मीडिया मार्केटिंग अपने आप में एक बहुत बड़ी चीज है | सोशल मीडिया मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग का एक सब सेट है हमने जैसे पहले चर्चा करी थी कि डिजिटल मार्केटिंग एक बहुत ही बड़ा और विशाल टॉपिक है अब हम इसके सबसेट की चर्चा करेंगे जो है सोशल मीडिया मार्केटिंग| आप जानते ही होंगे कि सोशल मीडिया वेबसाइट में काफी सारी वेबसाइट से आती है
इंदर साइट्स में भारत में सबसे बड़ी वेबसाइट है Facebook | Facebook के अलावा भारत में लोग WhatsApp इंस्टाग्राम फेसबुक मैसेंजर ट्विटर और अन्य सेवाओं का भी प्रयोग करते हैं
इसके अलावा ब्लॉगिंग को भी सोशल मीडिया मार्केटिंग का ही एक हिस्सा माना जाता है | Facebook के आने से पहले सोशल मीडिया में ब्लॉगिंग को सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता था
पहले हम शुरुआत करते हैं Facebook मार्केटिंग से | जैसा कि अभी हमने जाना कि भारत में करीब 22 करोड़ लोग Facebook पर एक्टिव है | यह Facebook को एक बहुत ही महत्वपूर्ण और ताकतवर माध्यम बनाता है लोगों तक पहुंचने का | इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार की आर्गेनाईजेशन और ब्रांड्स करते हैं |

अगर आसान तरीकों से समझने की कोशिश करी जाए तो Facebook को दो तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है Facebook पर बिजनेस या कोई संस्था अपने ऐड चला सकती है और अपने कस्टमर्स तक पहुंच सकती है | Facebook पर ऐड चलाने के लिए आपको ज्यादा पैसा लगाने की जरूरत नहीं है | आप खुद ही घर बैठे Facebook पर जाकर ऐड चला सकते हैं आपको सिर्फ एक क्रेडिट कार्ड की जरूरत पड़ेगी | Facebook पर आप भारत के किसी भी कोने में बैठकर विश्व के किसी भी कस्टमर तक अपना प्रचार कर सकते हैं | Facebook पर ऐड चलाने के लिए आपको facebook.com पर जा कर Facebook एड्स को सिलेक्ट करना है | इस पर जाकर आप अपने एड्स का लक्ष्य सेट कर सकते हैं | यह लक्ष्य आप का प्रचार करना आपका सिलाना या फिर आप के बिजनेस के लिए लिए लाना भी हो सकता है | इसके बाद आप Facebook पर जाकर यह तय कर सकते हैं कि आप किन लोगों को यह दिखाना चाहते हैं |
Facebook आपको अन्य प्रकार के ऑप्शन देता है जिसमें यह तय कर सकते हैं कि आप किस तरह के लोगों को प्लांट दिखा सकते हैं | इन ऑप्शंस में आप यह तय कर सकते हैं कि उनकी उम्र कितनी होनी चाहिए आप यह तय कर सकते हैं कि उनका लिंग क्या होगा वह रहते कहां पर है उनके शौक किस प्रकार के हैं वह किन सेलेब्रिटीज को फॉलो करते हैं और उनका व्यवसाय क्या है | इसके बाद आपको Facebook को यह बताना है कि आप अपने ऐड कब शुरू करना चाहते हैं आप दिन में कितना खर्चा करना चाहते हैं नाइट्स को चलाने के लिए और आप कुल मिलाकर टोटल खर्चा कितना करना चाहते हैं अपने एड्स के लिए | Facebook पर ऐड चलाने का सबसे बड़ा बेनिफिट यह है कि आपको हर सेकंड ही जानकारी होती रहेगी कि आपका खर्चा कितना हुआ है आपके ऐड पर कितने लोगों ने क्लिक किया है और वह लोग कहां से आए हैं | इसके अलावा आप अपनी वेबसाइट पर जाकर ही पता कर सकते हैं कि उनमें से कितने लोगों ने आपकी वेबसाइट से कोई सामान खरीदा या फिर आपकी वेबसाइट पर कितना समय बिताया | जैसा आपने अभी देखा की Facebook आपको एक बहुत ही आसान तरीका दिखाता है ऐड चलाने का इसी प्रकार से आप ऐड्स इंस्टाग्राम और ट्विटर जैसी सोशल मीडिया साइट्स पर भी चला सकते हैं |कुछ तमीज नहीं है पता किया है कि करीब करीब 71 प्रतिशत इंटरनेट यूजर उस ब्रांड से अपना प्रोडक्ट खरीदेंगे जिसको वह एक सोशल नेटवर्किंग साइट जैसे कि फेसबुक पर फॉलो करते हैं |

फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर ब्रांड्स और भी बहुत कुछ करते हैं | इसका संबंध एडवरटाइजिंग से डायरेक्टली नहीं है | काफी कंपनियां फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया साइट्स जैसे ट्विटर और इंस्टाग्राम पर अपने कस्टमर से बात करती हैं | कस्टमर्स भी आजकल सोशल मीडिया साइट्स पर जाकर ब्रांड से अपनी शिकायत या तारीफ करना पसंद करते हैं | इस वजह से कई संस्थाओं ने बड़ी-बड़ी तीन बैठा रखी है जो कि हर वक्त उनके ब्रांड यह संस्था के बारे में क्या चर्चा हो रही है सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी रखते हैं | कोई नेगेटिव चर्चा किसी भी ब्रांड के बारे में सोशल मीडिया पर बहुत जल्दी भेज सकती है | यह देखा गया है काफी ब्रांड्स के साथ की ऐसी चर्चा होगी वजह से ब्रांड्स के बारे में काफी नेगेटिव पब्लिसिटी होती है | इससे बचने के लिए ब्रांड्स ने सोशल मीडिया लिसनिंग टूल का प्रयोग शुरू किया है | यह लिसनिंग टूल एक संस्था को एक मौका देते हैं उनके बारे में चर्चा को सुनने का और उस पर रिप्लाई करने का |यह देखा गया है कि एक ब्रांड अगर वक्त पर किसी नाराज कस्टमर की शिकायत का रिप्लाई करता है सोशल मीडिया पर तो उससे ब्रांड की नेगेटिव पब्लिसिटी नहीं होती | 

इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग ​

इसके अलावा सोशल मीडिया मार्केटिंग में ब्लॉगिंग और इंजीनियरिंग शेयर मार्केटिंग जैसी चीजें भी आती है | यह देखा गया है की इन्फ्लुएंस हरयाने की कोई प्रभावशाली व्यक्ति सोशल मीडिया पर आपकी ब्रांड यह संस्था की चर्चा करके उसके बारे में काफी पब्लिसिटी बना सकता है | अगर वही प्रभावशाली व्यक्ति आपके ब्रांड के बारे में अच्छी चर्चा करता है तो उससे सोशल मीडिया पर उस ब्रांड या संस्था के बारे में सकारात्मक बातचीत होती है जिस से उस ब्रांड के प्रति ट्रस्ट बढ़ता है | यही प्रभावशाली व्यक्ति अगर किसी ब्रांड के बारे में कोई नकारात्मक बात करता है सोशल मीडिया पर एक वीडियो फेसबुक पोस्ट के जरिए तो इससे यह देखा गया है कि उस ब्रांड के प्रति भरोसा कस्टमर्स का कम हो जाता है | सोशल मीडिया में इन प्रभावशाली व्यक्तियों को इन्फ्लुएंस सर्च भी कहते हैं | सोशल मीडिया पर काफी प्रभावशाली लोग अपना ब्लॉग लिखते हैं और अपने ब्लॉग के माध्यम से किसी प्रोडक्ट कैटेगरी पर चर्चा करते हैं जैसे कि मोबाइल फोन फैशन ब्यूटी खाना या ऑटोमोबाइल | इन चर्चाओं में वह ब्रांड्स और उनके प्रोडक्ट्स का रिव्यू विस्तार से करते हैं | ब्रांड्स अपने बारे में एक पॉजिटिव सेंटीमेंट बनाने के लिए इन ब्लॉगर्स के साथ संबंध बनाती है जिसकी वजह से यह ब्लॉगर फ्रेंड्स के बारे में अच्छी चर्चा करते हैं | इसका महत्व इसलिए ज्यादा है क्योंकि इन प्रभावशाली व्यक्तियों के लिखे गए ब्लॉग को काफी लोग पढ़ते हैं और इनकी राय के मुताबिक हो यह निर्णय लेते हैं कि उनको एक ब्रांड का प्रोडक्ट खरीदना चाहिए या नहीं

​ईमेल मार्केटिंग और SMS मार्केटिंग

डिजिटल मार्केटिंग ईमेल मार्केटिंग और SMS मार्केटिंग के बिना अधूरा है | ईमेल मार्केटिंग और SMS मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग का सबसे पुराना और आजमाया हुआ तरीका है
संस्थाएं और ब्रांड्स आज की तारीख में भी ईमेल और SMS का प्रयोग करते हैं अपने ब्रांड प्रोडक्ट या सर्विस का प्रचार करने के लिए | ईमेल मार्केटिंग और SMS मार्केटिंग अगर आसान तरीके में बताया जाए तू कस्टमर तक पहुंचने का एक माध्यम है जिसमें हम एक या अन्य कस्टमर्स को अपने बारे में ईमेल SMS के जरिए बताते हैं | अब ईमेल और SMS करने के काफी नए तरीके आ गए हैं | आजकल कंपनीज कई तरह के टूल का प्रयोग कर कर ईमेल और SMS करती हैं | यह टूल्स की वजह से ब्रांड्स ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपना ईमेल और SMS दिखा पाती है
आपने भी काफी ब्रांड्स और संस्थाओं के ईमेल और SMS पड़े होंगे |कई सारे लोगों को ईमेल और SMS भेजना और यह निश्चित करना कि वह लोग हमारा ईमेल और SMS पढ़ रहे हैं और फिर उस पर क्लिक करके हमारी वेबसाइट पर आ रहे हैं यह हमारी जानकारी ढंग से पढ़ रहे हैं एक कला है | ईमेल मार्केटिंग और SMS मार्केटिंग में कई अन्य प्रकार के टूल आते हैं जो यह निश्चित करते हैं कि आप आसान तरीके से ज्यादा से ज्यादा लोगों को ईमेल भेज पाए और ज्यादा से ज्यादा लोगों को SMS भेज पाए | आज भी काफी कंपनीज यह बताती है कि ईमेल और SMS उनके लिए सबसे अच्छा माध्यम है डिजिटल मार्केटिंग करने का | एक कस्टमर को आप ईमेल SMS फेसबुक ट्विटर और अन्य माध्यम से एक ही बार में अपने बारे में बता सकते हैं

​डिजिटल मार्केटिंग Course

काफी भारतीय और ज्यादातर भारत के युवा लोग इंटरनेट पर अपना ज्यादा वक्त बिताते हैं | TV और न्यूज़पेपर जैसे माध्यमों पर अब कम समय बिताया जाता है। इस वजह से यह जरूरी हो गया है कि ब्रांड अपने कस्टमर तक पहुंचने के लिए इंटरनेट का प्रयोग करें। ज्यादातर कंपनीज आजकल डिजिटल मार्केटिंग पर अपना काफी समय और पैसा लगा रही है। इसलिए हर दिन डिजिटल मार्केटिंग की जरूरत और महत्व बढ़ता जा रहा है। अगर आप भी डिजिटल मार्केटिंग की दुनिया में तरक्की करना चाहते हैं तो यह जरूरी है कि आप डिजिटल मार्केटिंग को अच्छी तरह समझें।

डिजिटल मार्केटिंग समझने के लिए और जॉब या अपने व्यापार में तरक्की करने के लिए आपको एक डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करना जरूरी है। अगर आपने आज तक डिजिटल मार्केटिंग नहीं किया है तो यह कोर्स आपको डिजिटल मार्केटिंग के हर पहलू के बारे में विस्तार से बताएगा और आपको डिजिटल मार्केटिंग की दुनिया में तरक्की करवाएगा। अगर आप जॉब करते हैं तो आप अपनी कंपनी की डिजिटल मार्केटिंग टीम में जा सकते हैं। यह भी देखा गया है कि डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल अन्य प्रोफेशनल के मुकाबले ज्यादा तनख्वाह पाते हैं। अगर आप अपना व्यापार करते हैं तो यह देखा गया है कि जो व्यक्ति डिजिटल मार्केटिंग को अच्छी तरह से इस्तेमाल करते हैं उनके व्यापार ज्यादा मुनाफा बनाते हैं और ज्यादा बिजनेस करते हैं। हमारी company Shubhi Digital Media डिजिटल मार्केटिंग कोर्स ऑनलाइन कराती है। और इसको करने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है। डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के बारे में तो आप हमारी वेबसाइट पर दिए गए ईमेल ID या फोन नंबर पर हमसे संपर्क कर सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग सीखना बहुत ही आसान है। हमारे कोर्स को करने के लिए आपको सिर्फ एक इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत है। आप इस कोर्स को अपने मोबाइल फोन पर भी कर सकते हैं।